भारत सरकार ने आज दिनांक ८ नवम्बर २०१६, रात १२ बजे से, आधिकारिक रूप से ५०० रुपए और १००० रुपए का व्यापारिक रूप में चलन को निषेध कर दिया है । अब ये नोट किसी प्रयोग के नहीं रह जाएंगे, केवल कुछ विशेष अवस्थाओ में इनका प्रयोग मात्र ७२ घंटो के अंदर हो सकता है जैसे की हॉस्पिटल में एडमिट पेशेंट की मेडिसिन के लिए प्रोवाइडेड डॉक्टर ने उसको प्रेसक्रिबे किया हो, हवाई, ट्रैन और बस यात्रा के दौरान  टिकेट खरीदने के लिए आदि । 
यदि आपके पास पांचसो और एक हजार के नोट्स है तो आप उनको बैंक में ३० दिसम्बर तक जमा करा सकते हैं। आप अपनी साथ कोई भी एक आइडेंटिटी प्रूफ रखिये। ९ तारीख को बैंक और पोस्ट ऑफिस बंद रहेंगे और कुछ जगह एटीएम भी नहीं चलेंगे । पैट्रॉल पंप पर भी आप इनका यूज़ कर सकते हैं । आप अपने पैसो के बदले छोटे नॉट ले सकते है (higher currency Denominations) छोटे सिकके, पांच, १० रुपए, २० रुपए , ५० रुपए और १०० रुपए पूर्ण रूप से चलन में रहेंगे और १० तारीख के बाद नए ५०० व २००० रुपए के नोट बैंक में आ जाएंगे।
भारत सरकार का ये एक महत्वपूर्ण फैसला है जिससे बहुत हद तक आप मानिये की ब्लैक मनी, डे टू डे लाइफ में जो ऑफिसियल करप्शन है, फेक करेंसी और आंतकी एक्टिविटीज पर रोक लगेगी । भारतीय करेंसी में १०० रुपए के नोट्स का २३%, ५०० रुपए का ४४ % और २४ % १००० रुपए की हिस्सेदारी है।  सर्जिकल हमले के बाद से आंतकी घटनाओ और बॉर्डर पर तनाव बढ़ा है।  आज के समय में युद्ध प्रत्यक्ष रूप से न लड़कर परोक्ष रूप में लडे जाते हैं , और पडोसी देश भी वही कार्य कर रहा है।  वर्तमान में फेक करेंसी का भारतीय अर्थव्यवस्था में सेंध भविष्य को अन्धकार की और ना ले जाए उसके लिए निर्णायक फैसला बहुत जरुरी हो गया था , जो सरकार का एक उचित कदम है।
मान लीजिये की यह पैसा जो आपके पास है आप ३० दिसम्बर तक जमा नहीं कर पाते हैं तो एक एफडीवीट के साथ ३१ मार्च २०१७ तक आप इसको अपनी पहचान पात्र के साथ जमा कर सकते हैं।  रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने किसी भी परेशानी के लिए मुम्बई में कण्ट्रोल रूम स्थापित किया है जिसका नंबर 022 22602201 तथा ०२२ २२६०२९४४ है आप इन दिए नंबर्स पर कॉल करके अपनी जानकारी ले सकते हैं।

 

 इस निर्णय से नुक्सान किसको होगा ? अब देखिये रात में बैंक खुला नहीं और कल बैंक बंद रहेंगे तो वो लोग जिनके पास ये नोट हैं क्या करेंगे ? दूसरा जब आपको पता है की अगर आप ने सारा पैसा बैंक में जमा किया भी तो इनकम टैक्स वालो को पता लग जायेगा और आप ने अपनी इनकम भी सरकार को तय तारीख में नहीं बताई थी तो जाहिर सी बात है आपको प्रॉब्लम होगी।  आप अपना कुछ रुपया तो जमा कराएंगे चाहे नाम किसी का भी हो।  कम से कम खराब तो नहीं कराएंगे।
दूसरा सरकार GST लेकर आ चुकी है तो एक बड़ा हिस्सा सरकार  के अकाउंट में जायेगा, सारा व्यापारिक लेन -देन चेक, ऑनलाइन या प्लास्टिक मनी द्वारा प्रमोट करना, सभी लोगो के बैंक अकाउंट खुलवाना, यहाँ बड़ा सधा हुआ फैसला दिखाई पड़ रहा है। सरकार का डेडलाइन देकर इनकम को घोषित करवाना , ब्लैक मनी को वाइट करना और GST पास करवाना , और अब  अचानक से बड़े नोटों का चलन बंद करना एक प्रोपर निति का हिस्सा ही है।